जाने Class और Object हिंदी में [ C++ ] – Class And Object In C In Hindi

Class And Object In C In Hindi
Class And Object In C In Hindi

Class And Object In C In Hindi

जाने Class और Object हिंदी में [ C++ ], Class In C In Hindi, Oject In  C in Hindi, Class and Object In C In Hindi


Class And Object In C In Hindi –  हेल्लो Engineers कैसे हो , उम्मीद है आप ठीक होगे और पढाई तो चंगा होगा आज जो शेयर करने वाले वो OOPS के बारे में हैं

तो यदि आप जानना चाहते हैं की Class And Object In C In Hindi   के बारे में तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते हैं , और अगर समझ आ जाये तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं


Class In C In Hindi 

C + + में क्लास का अत्यधिक महत्व है । इसी महत्ता के कारण शुरू में इस भाषा का नाम ही विथ क्लास ‘ था । क्लास की Concept के प्रयोग के कारण ही C + + प्रोसीजर भाषा के साथ – साथ ऑब्जेक्ट ओरिएन्टेड प्रोग्रामिंग की एक Advance भाषा बन सकी है ।

Class यूजर के द्वारा बनाये जाना वाला डेटा टाइप है । क्लास उन ऑब्जेक्ट्स का समूह होती है , जिनके Property Same  होते हैं एवं जिनका व्यवहार व संबंध ( relationships ) साधारण ( Common ) होता हैं ।

ऑब्जेक्ट्स में डेटा एवं उस डेटा को मैनिपुलेट करने के लिए Code Contain रहता है । एक ऑब्जेक्ट के डेटा एवं कोड का Complete set क्लास की सहायता से यूजर डिफाइन्ड डेटा टाइप बनाया जा सकता है ।

वास्तव में , ऑब्जेक्ट्स क्लास टाइप के वेरियेबल होते हैं । एक बार क्लास के परिभाषित होने के बाद , उस क्लास से संबंधित ( belonging ) ऑब्जेक्ट्स के कितने भी मेम्बर बनाए जा सकते हैं ।

प्रत्येक ऑब्जेक्ट क्लास टाइप के डेटा से associate रहता है , जिससे वो बनता है । अतः एक क्लास समान टाइप के ऑब्जेक्ट्स का संग्रह होती है ।

उदाहरण – mango , apple एवं orange क्लास fruit के मेम्बर हैं | चूँकि क्लास यूजर – डिफाइन्ड है और क्लास एक प्रोग्रामिंग भाषा के डेटा टाइप की तरह व्यवहार करता है । अतः यदि fruit एक क्लास की तरह डिफाइन होता है , तब कथन ,

Class In C In Hindi 

fruit mango ;

एक ऑब्जेक्ट Generate करेगा जो fruit क्लास से संबंधित है ।

एक क्लास Specifications के सामान्यतः दो भाग होते हैं –

  1. क्लास डिक्लेयरेशन ,
  2. Class फंक्शन परिभाषाएँ 

क्लास Declaration , इसके मेम्बर्स के टाइप व स्कोप को Describe करता है । Class के फंक्शन की परिभाषाएँ यह बताती हैं कि क्लास फंक्शन्स कैसे Executed होते हैं । क्लास डिक्लेयरेशन का सामान्य प्रारूप निम्नलिखित है

सिन्टेक्स –

class class _name
{
private :
variable declarations ;
function declarations ;

public :
variable declarations ;
function declarations ;
};

Class को एक struct डिक्लेयरेशन की तरह ही डिक्लेयर किया जाता है । keyword क्लास  class _ name टाइप के एक एब्सट्रेक्ट डेटा को निश्चित करता है । एक क्लास की बॉडी को ब्रेसेस के साथ बन्द किया जाता है तथा एक सेमीकोलन के द्वारा टर्मिनेट किया जाता है ।

क्लास बॉडी वेरियेबल्स के डिक्लेयरेशन और फंक्शन्स को Include करती है । ये फंक्शन्स और वेरियेबल्स सामूहिक रूप में मेम्बर्स कहलाते हैं । ये दो सेक्शन्स के अन्दर ग्रुप किये जाते हैं जिनके नाम हैं – प्राइवेट और पब्लिक , जो यह Describe करते हैं कि कौन से मेम्बर्स प्राइवेट हैं और कौन से पब्लिक ।

की – वर्ड्स Private And Public  , Visibility Lables की तरह जाने जाते हैं जो मेम्बर्स प्राइवेट की तरह डिक्लेयर किये जाते हैं वे केवल क्लास के अन्दर ही एक्सेस किये जा सकते हैं । ‘दूसरी तरफ पब्लिक मेम्बर्स क्लास के अन्दर तथा वाहर भी एक्सेस किये जा सकते हैं ।


Object In C In Hindi 

यह OOPs की basic run-time entity है। जो कि किसी object (person, place, a bank account etc.) को represent करता है। Object User define  डेटा टाइप्स जैसे – वेक्टर , समय एवं सूची ( list ) आदि को भी प्रदर्शित कर सकते हैं ।

object, class का variable है जो कि class को execute करता है और उसमे उपलब्ध methods को use कर डाटा को process करता है। object के create होने पर यह memory मे अन्य variables की तरह ही space लेता है।

प्रोग्राम के ऑब्जेक्ट्स का चयन इस प्रकार किया जाना चाहिए कि वे वास्तविक विश्व के समान ही हों या उससे  मिलता जुलता हो

Creating Object Hindi 

Object बनाना ( Creating object ) – क्लास , User द्वारा परिमाषित data type जबकि Object Class Template  का एक इंस्टेंस instance ) होता है | क्लास एक टेम्पलेट Provide करती है जो कि क्लास टाइप के ऑब्जेक्ट के लिए आवश्यक मेम्बर फंक्शन्स एवं वेरियेबल परिभाषित करता है ।

क्लास को क्लास डिक्लेयरेशन के पहले आवश्यक रूप से परिभाषित करना चाहिए ।

Example  – item x // memory for x is created

यह Statement Item टाइप के एक वेरियेबल x का निर्माण करता है । C ++ में क्लास वेरियेबल्स को ऑब्जेक्ट कहते हैं । अत : x , item टाइप का एक ऑब्जेक्ट कहलाता है । एक स्टेटमेन्ट में एक से अधिक ऑब्जेक्ट डिक्लेयर किये जा सकते हैं । .

उदाहरण –  item x , y . z;

ऑब्जेक्ट का डिक्लेयरेशन , किसी भी बेसिक टाइप के वैरियेबल के डिक्लेयरेशन के समान होता है । इस अवस्था में ऑब्जेक्ट को आवश्यक Memory Space एलोकेट किया जाता है । ऑब्जेक्ट को क्लास को परिभाषित करते समय क्लोजिंग बेस ( closing brace ) के तुरंत बाद उनके नाम लिखकर भी बनाया जा सकता है । जैसे

class item

{

     ………………….

     ………………….

}  x, y,z;

 

यह item type के ऑब्जेक्ट्स x , Y , z बनाता है ।


Program In C In Hndi 

#include <iostream>
using namespace std;

// Defining class 

class EmployeeInfo

{

       private:
             int salary=10,000;
       public:
             char name [20];
             int age;

 

             void insertinfo(void);

             void displayinfo(void)
             {
                 cout<<endl;
                 cout<<“Name is :”<<name<<endl;
                 cout<<“Age is:”<<age<<endl;
                 cout<<“Salary is:”<<salary;
             }

             // Constructor of class
             EmployeeInfo()  
             {
                   salary = 10000;
             }
};

// Writing definition outside the class
void EmployeeInfo :: insertinfo(void)
 {
      cout<<“Enter your name…”;
      cin.getline(name,20,’n’);
      cout<<“Enter your age…”;
      cin>>age;
}

int main()
{
     // Creating object
     EmployeeInfo obj1;

     // Calling methods with object
     obj1.insertinfo();
     obj1.displayinfo();

     return 0;
}


Output:-

Enter your name:  CseStudies

Enter your age: 2

Name is : Computer Notes Hindi 

Age is : 21

Salary is : 1000


Conclusion Of Class And Object In C In Hindi

दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढने के बाद आप तो ये समझ गये होंगे की Class And Object In C In Hindi और आपको जरुर पसंद आई होगी , मैं हमेशा यही कोशिस करता हु की आपको सरल भासा में समझा सकू , शायद आप इसे समझ गये होंगे इस पोस्ट में मैंने सभी Topics को Cover किया हूँ ताकि आपको किसी और पोस्ट को पढने की जरूरत ना हो , यदि इस पोस्ट से आपकी हेल्प हुई होगी तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*