Operating System Operations In Hindi

Operating System Operations In Hindi


Operating System Operations In Hindi हेल्लो Engineers कैसे हो , उम्मीद है आप ठीक होगे और पढाई तो चंगा होगा आज जो शेयर करने वाले वो Operating System के functions के बारे में हैं

तो यदि आप जानना चाहते हैं की Operating System Operations In Hindi  क्या हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते हैं , और अगर समझ आ जाये तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं


Operating System Operations In Hindi

O/S दो प्रकार के Operation को Perform करता हैं

1 ) User Mode

2 )Kernel Mode

Operating System एक समय में एक ही Mode पर हो सकता है | ये System यह बताता है की  System कौन से Mode पर है |

ये Mode Bit को बताता हैं |

0 – Kernel Mode

1  – User Mode

Nodes Of Operating System 

Fig . of Nodes Of Operating System 

Operating System दो Separate Nodes पर Operation Perform करता हैं |

1 ) Kernel Mode (Supervisor Mode , Privilege Mode , System Mode )

2 ) User Mode

Computer सिस्टम में एक Hardware Add रहता हैं जो एक बिट Store , इस बिटको Mode Bit  कहा जाता है |

इस बिट का उपयोग O/S Mode Check करने के लिए होता है |

अगर Mode bit की Value 0 है , तो O/S User Mode पर होता हैं |

जब computer System User Application को execute करता हैं तो System User Mode पर होता है और

जब System Program को Execute करना है तो वह kernel mode पर काम करता है |

इस Operation को दिए गए उदाहरण को द्वारा समझाया गया है |

जब  System boot होता है तो सारे Hardware Start होता है | उस समय System Kernel Mode पर काम करता  हैं |

कुछ समय बाद User application को Start करता हैं |  उस समय System User Mode में चला जाता हैं |

जब भी कोई Trap या Interrupt आता है hardware System User Mode  से Kernel Mode  पर चला जाता है अर्थात Mode 1 से Mode 0.

system User Mode में जाने से पहले हमेशा Mode Bit  को Change  करके 0 से 1 करता है |

dual-mode Operating System  को Unauthorized User   और Process से Protect  करता है ताकि

Privileged Instruction User   द्वारा Excess  या Execute  नहीं किए जा सके  क्योंकि Privileged Instruction हमेशा Kernel Mode पर Execute  होते हैं अगर कोई User Directly Hardware को Use  करना चाहता है तो System  उसको Allow  नहीं करता और उसे Illegal Access Treat करता है|

Timer –

कंप्यूटर हमेशा यह निश्चित करता है कि CPU का Control  उनके पास रहे,  System User Program  को यह Allow  नहीं करता कि वह कि वह Infinite Times तक CPU का Control अपने पास रखें |

इस Goal को  प्राप्त करने के लिए Computer System Timer का Use  करता है |

Timer एक निश्चित समय के बाद Interrupt Generate करता है , Timer में प्रयोग होने वाले काउंटर एक Unit  से Decrements होता हैं  जब काउंटर जीरो(0) पहुंच  जाता है तब एक Interrupt Generate होता है |

System  Control  को User Program देने से पहले यह हमेशा निश्चित करता है कि हमेशा Timer  में Interrupt Set रहे || Interrupt Generate  करता है Control Automatically User  Program से Operating System को चले जाता है इस तरह Timer User Program को लंबे समय तकExecute  होने से रोकता है एक तरह Timer  , CPU Protection के लिए यूज किया जाता है|

 


Conclusion 

दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढने के बाद आप तो ये समझ गये होंगे की Parallel Computing In Hindi और आपको जरुर पसंद आई होगी , मैं हमेशा यही कोशिस करता हु की आपको सरल भासा में समझा सकू , शायद आप इसे समझ गये होंगे इस पोस्ट में मैंने सभी Topics को Cover किया हूँ ताकि आपको किसी और पोस्ट को पढने की जरूरत ना हो , यदि इस पोस्ट से आपकी हेल्प हुई होगी तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं

Leave a Comment