What Is java In Hindi – पढ़े जावा के बारे हिंदी में

Rate this post

What Is java In Hindi –  हेल्लो Engineers कैसे हो, उम्मीद है आप ठीक होगे और पढाई तो चंगा होगा आज जो शेयर करने वाले वो Java के बारे में हैं

तो यदि आप जानना चाहते हैं की What Is java In Hindi के बारे में तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते हैं, और अगर समझ आ जाये तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं.


What Is java In Hindi

  • जावा एक oop (object-oriented programming ) language है | इसे James gosling ने 1991 में develop किया गया था  लेकिन इसे publicly पहला version launch किया गया – (java 1 .0 इसे पहले 0ak नाम से जाना जाता था |
  • Java का सबसे important और popular feature था की java platform independent थी। क्योंकि java किसी एक particular hardware या operating system के लिए नहीं बनायीं गयी थी।
  • Java में बनाये हुए program किसी भी system पर execute किये जा सकते है। Java का ये feature java को आज भी सबसे popular लैंग्वेज बनाता है।

History Of Java In Hindi

Java एक general purpose object oriented programming लैंग्वेज है। Sun Microsystems ने java 1991 में U.S. में बनायीं थी। पहले java का नाम oak रखा गया था लेकिन बाद में इसे change करके java किया गया था।

Java James Gosling ने develop की थी।जावा का असली नाम Oak था लेकिन बाद में इसका नाम बदलने की चर्चा की गयी परन्तु कोई नाम तय कर पाना सम्भव ना हो पाया फिर Oak टीम coffee पीने के लिए चली गयी और वही उन्होंने Oak का नाम जावा रख दिया। 

मुख्य रूप से Java का Use केवल applications को Develop करने के लिए किया जाता है परन्तु Internet में सभी प्रकार के कार्यों में इसका प्रयोग किया जाता है। जावा में source कोड को byte कोड में compiled किया जाता है जबकि अन्य languages में source कोड को machine कोड में compiled किया जाता है।


Features of java In Hindi 

THERE ARE SOME FEATURES OF JAVA In Hindi:-

1. Simple and Secure

java पूरी तरीके से simple है क्योंकि यह c++ language पर based है इसकी security का main region

इसका bytecode feature है web-based application में इसे इंटरनेट पर रन किया जाता है तो

सबसे पहले बाइट कोड verify किया जाता है और इसके security का दूसरा region है कि इसमें pointer का

यूज नहीं किया जाता है |


 2. portable and platform-independent

इसकीportability का भीmain region इसका bytecode feature है जावा के प्रोग्राम को
कंपाइल किया जाता है तो डॉट क्लास फाइल जनरेट होता है इस डॉट क्लास फाइल को bytecode
या intermediate code भी कहा जाता और इसी bytecode को दूसरे दूसरे मशीन पर interpret
किया जाता है | सभी मशीनों के लिए बाइट कोड same रहता है और सभी मशीन अपने आर्किटेक्चर
या बनावट के आधार पर इसे इंटरप्रेट कर लेती है |


3. object-oriented

Java एक true object-oriented programming language है। Java में almost सब कुछ object है।
Java में आपकी सारी information objects के रूप में store होती है।  इसमें सभी चीजें Class और
Object के रूप में बनाई जाती है यह Java के सभी कांसेप्ट को सपोर्ट करता है जैसे Inheritance


4. compile and interpret

ज्यादातर programming languages या तो compiled होती है या interpreted होती है।
लेकिन java इन दोनों approaches को combine करती है और एक two-stage system बनाती है।
पहले तो java आपके program को compiler करके byte code generate करती है।
Byte code machine instructions नहीं होते है। इसलिए java second stage में bytecode को
interpret करके machine code generate करती है, जिसे directly execute किया जा सकता है।

Java in hindi
Java in hindi

5. Distributed

Java से आप distributed applications क्रिएट कर सकते है। Distributed applications वो applications होती है जो अलग अलग networks पर होती है और एक साथ मिलकर task perform करती है। हम जावा के प्रोग्राम को इंटरनेट या network पर आसानी से रन करा सकते हैं|  इसके लिए जावा के पास खुद का डॉट नेट पैकेज भी है|


6. MULTI-THREADED

जावा में हम एक ही टाइम में multiple thread या multiple programs concurrently run करा सकते हैं यह एक sequence में और एक time manner में  रन होते हैं |

MULTI-THREADED Feature Java in Hindi

7. Dynamic

जावा के program में  हम रनटाइम में class, library और new methods को program से dynamic link करा सकते हैं


8. ROBUST AND SECURE

Java एक robust language है। Java में बनाया हुआ कोई भी program अलग अलग environments में अलग अलग technologies के साथ बिना crash हुए काम कर सकता है। Java programs कभी crash नहीं होते है। ये बहुत ही reliable language है।

Java में security JVM के द्वारा provide की जाती है। Machine code generate करने से पहले JVM पर कुछ tests रन करके invalid combinations को detect करती है।

Java में security JVM के द्वारा provide की जाती है। Machine code generate करने से पहले JVM पर कुछ tests रन करके invalid combinations को detect करती है।


9. High Performance

यदि performance की बात की जाए तो java की performance बहुत impressive है। Java की speed का main reason byte code है। Java का architecture इस तरह से design किया गया है की java में runtime पर overhead बहुत कम होता है।

Basic principles of JAVA In Hindi

The basic three principles of JAVA are defined below-

  1. Inheritance
  2. Polymorphism
  3. Encapsulation

1. Inheritance In Hindi

Java में Inheritance  यह ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग का एक प्रकार है , जिसमें एक क्लास की Properties और Method को किसी दूसरे Class  में Inherit  की जाती है ..

इनहेरिटेंस  में मुख्यतः  Parent Class  का इस्तेमाल किया जाता है ,  इसमें Parent Class को Base Class या Super Class कहाँ  जाता हैं , और Child Class को Derived Class  या sub Class कहाँ जाता हैं ..

C++ ये  इन्हेरिटेंस के प्रकार को सपोर्ट करता है लेकिन Java मल्टीप्ल इन्हेरिटेंस को सपोर्ट नहीं करता , मतलब Java में Parent Class के कई Child Class हो सकते हैं लेकिन Child Class सिर्फ एक ही Parent Classs होता हैं ..


2. Polymorphism

Polymorphism का मतलब होता है “एक नाम और कई काम”। Polymorphism के through आप एक interface से situation एक according अलग अलग actions ले सकते है। जैसे की method overloading में किया जाता है।


3. Encapsulation

Encapsulation को data hiding भी कहते है। Encapsulation में आप private variables declare करते है। और उन्हें public methods के through access करते है आपके variables को आपकी ही class के methods access कर सकते है।

दूसरी कोई भी class आपके variables को access नहीं कर सकती है। इस प्रकार आप data को hide भी करते है और यूज़ भी करते है। Encapsulation का एक और मतलब होता है data और code को एक unit में bind करना और बाहर से access को रोकना। ऐसे आपका ऐसे आपके variables और methods एक ही unit में bind हो जाते है।

Java 3 level की data hiding provide करती है।

  • public – आपके public class members को दूसरी classes access कर सकती है।
  • private – आपके private class members को दूसरी कोई भी class access नहीं कर सकती है।
  • protected – केवल आपकी class को inherit करने वाली class ही आपके class members को access कर सकती है।

Java Applet In Hindi

  • Applet Java Technology है |  Applet बनाने के लिये Java programming language का प्रयोग किया जाता है |
  • ये  एक विशेष program है, जिससे dynamic content या webpage (HTML) बनाया जाता है, इसे web browser या applet viewer में देखा जाता है |
  • Applet का प्रयोग web application में interactive feature उपलब्‍ध कराने  के लिये किया जाता है , जो केवल HTML का प्रयोग करके नहीं किया जा सकता है |
  • Applet से mouse input लिया जा सकता है और button, checkbox भी बनाया जा सकता है |
  • User के द्वारा कोई action लेने पर Applet graphic content बदल सकता है |
  • HTML page में parameter रखा जा सकता है, जिसे Applet को दिया जकता है| दिये गये parameter के अनुसार Applet विभिन्‍न appearance बदल सकता है |
  • Applet program बनाने के लिये  java.applet.Applet class को extend या inherit किया जाता है

Adding Applet in HTML File

जिस तरह से हम विभिन्न प्रकार के Tags का प्रयोग करके विभिन्न प्रकार से किसी Web Page को Design करते हैं, उसी तरह से किसी Applet को HTML Page में Embed करने के लिए हमें Tag का प्रयोग करना पडता है। इस Tag में हमें ये Specify करना होता है कि Web Page में Embed किए जाने वाले Applet का नाम क्या है और उस APPLET की Web Page में Size क्या होगी। यदि हमें किसी HellJava नाम के Applet को Web Page में Embed करना हो, तो हमें निम्नानुसार APPLET Tag Code लिखना होता हैः

<head>
<title>Betalab Computer Center</title>
<head>
<body>
<center> Welcome to the world of Java. </center>
<center>
<applet code="HelloJava.class" height="200" title="Java" width="400"></applet>
</center>
</body>
</head>

Final Word Of What Is java In Hindi

दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढने के बाद आप तो ये समझ गये होंगे की What Is java In Hindi और आपको जरुर पसंद आई होगी , मैं हमेशा यही कोशिस करता हु की आपको सरल भासा में समझा सकू , शायद आप इसे समझ गये होंगे इस पोस्ट में मैंने सभी Topics को Cover किया हूँ ताकि आपको किसी और पोस्ट को पढने की जरूरत ना हो , यदि इस पोस्ट से आपकी हेल्प हुई होगी तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं

 

Leave a Comment