Objective Of Achievement Motivation In Hindi

Objective Of Achievement Motivation


Labor Laws Related To Small Scale Industries In Hindi – हेल्लो Engineers कैसे हो , उम्मीद है आप ठीक होगे और पढाई तो चंगा होगा आज जो शेयर करने वाले वो Entrepreneurship  के  Objective Of Achievement Motivation के बारे में हैं तो यदि आप जानना चाहते हैं की ये  क्या हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते हैं , और अगर समझ आ जाये तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं |


Objective Of Achievement Motivation

उपलब्धि अभिप्रेरणा के निम्नलिखित उददेश्य है:-

Objective Of Achievement Motivation

(i) उद्यमियों को मानसिक रूप से तैयार करना (Mentally preparing entrepreneurs)  –

उपलब्धि अभिप्रेरणा ( Achievement Motivation) का प्रमुख उददेश्य उद्यमियों (Entrepreneurs) को लक्ष्य प्राप्ति के लिये मानसिक (Mentally) रूप से तैयार करना होता है । किसी कार्य या उद्यम (Business ) की शुरुआत सबसे पहले मानसिक रूप से होती है । पहले व्यक्ति उस कार्य के लिये अपने मन को सोचता है और सोचने के बाद उस कार्य को पूरा करने के लिये कदम उठाता है । यह बात तो सच है कि उद्यमियों ()(Entrepreneurs) को तरह – तरह की मौद्रिक सुविधाएँ , आकर्षक प्रोत्साहन (Monetary features, attractive incentives) देकर उद्यमिता अपनाने के लिये प्रोत्साहित किया जा सकता है परंतु इन सब सुविधाओं के बावजूद यदि उद्योग स्थापित करने हेतु मानसिक प्रेरणा नहीं दी जाती है तब वे कदापि उद्यमिता को अपनाने के लिये आगे नहीं आयेंगे ।

( ii ) लक्ष्य का चयन (Target selection) –

हर व्यक्ति के लिये जीवन में क्षमता , योग्यता और अपने अनुभव के अनुसार बॉछित लक्ष्य का चुनाव करना सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है । यदि व्यक्ति अपने लक्ष्य का चयन सही ढंग से नहीं कर पाता है तब उसे अपने जीवन में सफलता कदापि नहीं । मिल पाती है । अभिप्रेरणा उद्यमी को उसके लक्ष्य का चुनाव सही ढंग से करने में मदद करती हैं |

( iii ) लक्ष्य प्राप्ति के लिये प्रयास करना (Striving for goal) –

अभिप्रेरणा का उद्देश्य उद्यमियों को उद्यम स्थापित करने के लिये मानसिक रूप से तैयार करने , लक्ष्य के चुनाव में मदद करने यदि के साथ – साथ लक्ष्य प्राप्ति के लिये प्रयास करने के लिये प्रेरित करना भी होता है । कोई व्यक्ति या उद्यमी कितना ही अच्छा उद्यम चुन ले जब तक वह प्रयास नहीं करेगा वह उपलब्धि प्राप्त नहीं कर सकेगा ।

( iv ) उद्यमियों में धैर्य का विकास करना (Developing patience in entrepreneurs) –

किसी उद्यम में सफलता प्राप्त करने या किन्हीं अन्य लक्ष्यों को प्राप्त करने में अनेक कठिनाइयाँ आती है । यदि उद्यमी में धैर्य न हो तो वह घबरा जाता है । तथा कार्य को अधूरा छोड़ देता है । किसी लक्ष्य की प्राप्ति के लिये धैर्य का होना अत्यंत आवश्यक है । प्रेरणा के द्वारा उद्यमियों में धैर्य का विकास किया जाता हैं |

( v ) उपलब्धि की चाह विकसित करना (Develop desire for achievement) –

जब तक उद्यमियों में कोई उपलब्धि प्राप्त करने की इच्छा न हो तब तक वे उद्यम स्थापित करने , उसको सफलतापूर्वक संचालित करने और सफलता प्राप्त करने के लिये कुछ न करेगा । यहाँ तक कि उद्यम स्थापित करने के लिये उसको मानसिक रूप से तैयार करना भी मुश्किल काम हो जायेगा । इसीलिये प्रेरणा के द्वारा तीव्र चाह विकसित की जाती है ।

 


Final Word

दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढने के बाद आप तो ये समझ गये होंगे की  Objective Of  Achievement Motivation In Entrepreneurship In Hindi और आपको जरुर पसंद आई होगी , मैं हमेशा यही कोशिस करता हूँ की आपको सरल भासा में समझा सकू , शायद आप इसे समझ गये होंगे इस पोस्ट में मैंने सभी Topics को Cover किया हूँ ताकि आपको किसी और पोस्ट को पढने की जरूरत ना हो , यदि इस पोस्ट से आपकी हेल्प हुई होगी तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं |

1 thought on “Objective Of Achievement Motivation In Hindi”

Leave a Comment