Institutional Support System for Entrepreneurs In Hindi

Institutional Support

Institutional Support System for Entrepreneurs In Hindi


Institutional Support System for Entrepreneurs In Hindi –  हेल्लो Engineers कैसे हो , उम्मीद है आप ठीक होगे और पढाई तो चंगा होगा आज जो शेयर करने वाले वो Entrepreneurship  के  Institutional Support System for Entrepreneurs In Hindi  के बारे में हैं तो यदि आप जानना चाहते हैं की ये   क्या हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते हैं , और अगर समझ आ जाये तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं |


Institutional Support System for Entrepreneurs In Hindi

Institutional Support

इस संस्थागत सहायता प्रणाली को तीन स्तरों पर बनाया गया है:

1. केंद्र सरकार –  Central Government

2. राज्य सरकार –  State  Government

3. गैर-सरकारी सहायता प्रणाली –  Non-Government Support System

1 )  Central Government  Institutions In Hindi :- 

Some of the Central Government  Institutions are :- 

SMALL SCALE INDUSTRIES BOARD

लघु उद्योग क्षेत्र के लाभ के लिए प्रभावी समन्वय और अंतर-संस्थागत संपर्क प्रदान करने के लिए 1954 में स्थापित किया गया।

It consists of the following members:

  1. Union Industry Minister
  2.  State Industry Minister
  3.  Selected members of Parliament
  4.  Secretaries of department concerned
  5.  Financial Institutions
  6.  Eminent experts in the field

NATIONAL BANK FOR AGRICULTURE AND RURAL DEVELOPMENT (NABARD)

NABARD द्वारा दी जाने वाली सेवाएं:

  1. ग्रामीण गैर-कृषि क्षेत्र के लिए युवाओं को आकर्षित करना। Attracting youth to rural non-farm sector.
  2.  जिला उद्योग ग्रामीण परियोजना (DRIP)। District Industries Rural Project (DRIP).
  3.  ग्रामीण उद्यमिता विकास कार्यक्रम (REDP)। Rural Entrepreneurship Development Programme (REDP).

SMALL INDUSTRIES DEVELOPMENT ORGANISATION (SIDO)

1954 में SSS को बढ़ावा देने के लिए समर्थन सेवाओं को विकसित करने के लिए गठित किया गया

SIDO के मुख्य उद्देश्य हैं :-

  1. एसएसआई की Promotion के लिए policy तैयार करना | To formulate policy for promotion of SSI
  2.   राज्य सरकार की नीतियों का समन्वय प्रदान करना | Provide coordination of policies of state government
  3. जानकारी एकत्र करना और उसका प्रसार करना | To collect and disseminate information
  4. परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए | To offer consultancy services
  5. परीक्षण सेवाओं का प्रावधान | Provision of testing services

NATIONAL SMALL INDUSTRIES CORPORATION (NSIC)

1955 में भारत सरकार द्वारा स्थापित।
NSIC मुख्य कार्य हैं:-

  1.   मशीनरी और उपकरण की आपूर्ति।Supply of machinery and equipment.
  2. वित्तीय सहायता का प्रावधान।Provision of financial assistance.
  3.   कच्चे माल की व्यवस्था के लिए सहायता।Assistance for arrangement of raw materials.
  4.   प्रौद्योगिकी हस्तांतरण केंद्रों की स्थापना।Establishment of technology transfer centers.
  5.   विपणन सहायता की व्यवस्था।Arrangement of marketing assistance.
  6.   सरकारी खरीद कार्यक्रम में प्राथमिकताPriority in government purchase program .

SMALL INDUSTRIES DEVELOPMENT BANK OF INDIA (SIDBI)

आईडीबीआई के सहायक, संसद के एक अधिनियम के रूप में स्थापित।
इसके लिए सहायता प्रदान करता है:-

  1. नई एसएसआई इकाइयों, छोटे होटलों, अस्पतालों और तकनीकी उन्नयन और आधुनिकीकरण की स्थापना | Setting up of new SSI units, small hotels, hospitals and so on Technological up-gradation and modernization,
  2. विस्तार और विविधीकरण।expansion and diversification.
  3.   गुणवत्ता उन्नयन।Quality upgradation.
  4. निर्माता-विक्रेता के बिलों में छूट | Discounting of bills of manufacturer-seller in

2) STATE GOVERNMENT INSTITUTES

STATE FINANCIAL CORPORATIONS (SFC)

उद्देश्य:

  1. भूमि, भवन, संयंत्र और मशीनरी के अधिग्रहण के लिए टर्म लोन प्रदान करें।Provide term loans for the acquisition of land, building, plant and machinery.
  2.   स्वरोजगार को बढ़ावा देना।Promotion of self-employment.
  3.   महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करें।Encourage women entrepreneurs.
  4.   उद्योग का विस्तार।Expansion of industry.
  5.   बीज पूंजी सहायता प्रदान करें। Provide seed capital assistance.

STATE SMALL INDUSTRIES DEVELOPMENT CORPORATION (SSIDC)

इनके द्वारा किए गए महत्वपूर्ण कार्य हैं:

  1. कच्चे माल की खरीद और वितरण। Procurement and distribution of raw materials.
  2. भाड़े-खरीद के आधार पर मशीन की आपूर्ति। Supply of machine on hire-purchase basis.
  3. औद्योगिक संपदा का निर्माण। Construction of industrial estates.
  4. एसएसआई के उत्पादों के विपणन के लिए सहायता प्रदान करना। Providing assistance for marketing of products of SSI.

Eg:- KARNATAKA STATE SMALL INDUSTRIES DEVELOPMENT CORPORATION LTD

TECHNICAL CONSULTANCY ORGANISATION

TCO की सेवाओं में शामिल हैं :-

  1.  प्रोजेक्ट प्रोफाइल तैयार करना।
  2.  अंडरटेकिंग औद्योगिक संभावित सर्वेक्षण। Undertaking industrial potential surveys.
  3.  संभावित उद्यमियों की पहचान। Identification of potential entrepreneurs.
  4.  अंडरटेकिंग बाजार अनुसंधान। Undertaking market research.
  5.  परियोजना पर्यवेक्षण और तकनीकी और प्रशासनिक सहायता प्रदान करना। Project supervision and rendering technical and administrative assistance.
  6. ईडीपी का आयोजन। Conducting EDPs.

KHADI AND VILLAGE INDUSTRIES COMMISSION (KVIC)

यह ग्रामीण क्षेत्रों में खादी और ग्रामोद्योग के विकास में लगा हुआ है।
KVIC के मुख्य उद्देश्य हैं:-

  1. ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध कराना। Providing employment in rural areas.
  2.   कौशल में सुधार। Skill improvement.
  3.   ग्रामीण औद्योगिकीकरण। Rural industrialization.
  4.   प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण।Transfer of technology.

2) NON-GOVERNMENT INSTITUTES

INDIAN COUNCIL OF SMALL INDUSTRIES (ICSI)

इसकी स्थापना 1979 में हुई थी।

मुख्य कार्य हैं:

  1.   सूचना प्रसार। Information dissemination.
  2.  उद्यमिता विकास। Entrepreneurship development.
  3.   परामर्श और प्रबंधकीय समर्थन। Consultancy and managerial support.
  4.   प्रशिक्षण और अनुसंधान। Training and research.

LAGHU UDYOG BHARTI (LUB)

इसकी स्थापना 1995 में हुई थी।
यह करने के लिए जिम्मेदार है:

  1.  उद्यमी प्रशिक्षण। Entrepreneurial training.
  2. प्रौद्योगिकी उन्नयन। Technology up-gradation.
  3. मार्केटिंग सेवाएं। Marketing services.

Framework for setting up a business

  • सामान्य जानकारी | General Information
  •  प्रोजेक्ट रिपोर्ट | Project Report
  •  वित्तीय सहायता | Financial Assistance
  •  मार्केटिंग | Marketing

General Information:

  • Selecting an activity  एक गतिविधि का चयन करना
  • Industry potential survey उद्योग संभावित सर्वेक्षण
  • Market study बाजार अध्ययन
  • Inputs required इनपुट आवश्यक
  • Agencies providing help-MSMEDI, SIDC

Project Report:

  • Gives an account of the project proposal परियोजना के प्रस्ताव का एक खाता देता है
  • Detailed information विस्तृत जानकारी
  • Model project reports मॉडल प्रोजेक्ट रिपोर्ट
  • Agencies providing help-MSMEDI, SFC, NSIC सहायता प्रदान करने वाली एजेंसियां- MSMEDI, SFC, NSIC

Financial Assistance:

  • Loan for fixed capital and working capital फिक्स्ड कैपिटल और वर्किंग कैपिटल के लिए लोन
  • Suitable source of funding धन का उपयुक्त स्रोत
  • Eligibility criteria पात्रता मापदंड
  • Margin money
  • Procedure for getting a loan ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया
  • Agencies providing help-SIDBI, NSIC, SFC सहायता प्रदान करने वाली एजेंसियां-सिडबी, एनएसआईसी, एसएफसी

Marketing:

  • Offer goods and services of desired quality at optimum cost सर्वोत्तम लागत पर वांछित गुणवत्ता के सामान और सेवाएं प्रदान करें
  • Create awareness through a network of dealers डीलरों के एक नेटवर्क के माध्यम से जागरूकता पैदा करें
  • Exhibitions and trade fairs प्रदर्शनी और व्यापार मेले
  • Agencies providing help-NSIC, KVIC सहायता-एनएसआईसी, केवीआईसी प्रदान करने वाली एजेंसियां

Conclusion

स्वतंत्रता के बाद की अवधि में सबसे महत्वपूर्ण विकास देश में औद्योगिक विकास की शुरुआत करने के लिए उद्यमियों को बढ़ावा देने, सहायता करने और विकसित करने के लिए कई प्रमुख संस्थानों की वृद्धि हुई है। देश ने अपनी आधारभूत संरचना के आधार पर एक मजबूत आधार तैयार किया है और बहुत आवश्यक समर्थन और सहायता प्रदान की है |


Final Word

दोस्तों इस पोस्ट को पूरा पढने के बाद आप तो ये समझ गये होंगे की ये क्या हैं और आपको जरुर पसंद आई होगी , मैं हमेशा यही कोशिस करता हूँ की आपको सरल भासा में समझा सकू , शायद आप इसे समझ गये होंगे इस पोस्ट में मैंने सभी Topics को Cover किया हूँ ताकि आपको किसी और पोस्ट को पढने की जरूरत ना हो , यदि इस पोस्ट से आपकी हेल्प हुई होगी तो अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हैं|

 

4 Trackbacks / Pingbacks

  1. जाने क्या हैं Cottage Industry हिंदी में Cottage Industry In Entrepreneurship
  2. जाने क्या हैं Small Scale Industries हिंदी में और उसके characterstics
  3. जाने क्या है Business Plan In हिंदी में Entrepreneurship In Hindi
  4. जाने क्या है Problems Of Small Scale Industries हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*